फ्री में वेबसाईट बनाएं

शुक्रवार, 23 जून 2017

Nature Aquarium the new craze amoung Raipurians


 Nature Aquarium, Aqua Interior Pet Store Raipur
Imagine tropical plants, exotic fish and visible expanses of colourful earth...in your drawing room! Yes, now you can recreate the beauty of the underwater world of Amazon. inside the confines of your home, all thanks to some Nature Aquarium experts who are painting the  city green , red  and blue. An acquired art form, allows you to create an underwater landscape inside a fish tank. Says nature aquarium expert AJAY PATEL, "Over the last five years, I've seen several people showing a keen interest in planted aquariums. In fact,some of my friends have also won top prizes in aquascaping contests held at Japan."

Want your own piece of nature?


THE TANK



It's better to choose a tank with height no more than 18 inches as that height helps the light penetrate till the bottom, which is a must for planted aquariums. Greater deapth of tank helps as well .

PLACEMENT

While choosing a place to keep the tank, avoid zones that experience frequent temperature fluctuations and direct sunlight. Avoid windows or kitchen corners. The location should be away from electrical/electronic equipment too.

MATERIAL AND EQUIPMENT

Substrate: The substrate is the soil on which the plants grow. It is spread at the bottom of the tank with a minimum height of 3 inches (may vary according to the kind of plants used). A large variety of readymade substrate are available in the market.  "For beginners, the quality of soil may be the key to their sucess .
ADA Amazonia as a matter of fact is the most effective when it comes to substrate.
ADA soil its characteristics and behaviour in aquarium is easy to predict as the compositions are controlled. If properly maintained (used in soft water with periodic doses of liquid fertilizers), it will lead to a sucess balance in your aquarium .

Light: You can opt for LED lights, tubelights, PLs or metal halides LED being the best. The general rule is 3-5 watts per gallon of water. If you have a 30 gallon aquarium, you need a light system of 120 watt or more.Whatever light you use, With proper equipment in place, eight to 10 hours of lighting in sufficient for plant growth.

CO2 (Carbon Dioxide): You need a cylinder to inject the gas in the water throughout the time the light is on. The amount of CO2 will vary from tank to tank, depending on plants, nutrition capacity of the soil and the amount of water. Remember, excessive CO2 can also kill the fishes.

Fertilizer: There is a range of fertilizers available in the market.Needless to say , it's absolutely necessary for plant growth.

Filtration: Chemicals from plants and leftover food can pollute the water. To remove these, a canister filter is required. Hang on back filters can also be used. As per require ment, chemical filters like activated charcoal can also be used.


Plants: Using plants such as Elocharis parvula, Echinodorus tenellus, Saggitaria subulata, Micranthemum umbrosum montecarlo and Marselia sp. Glosso stigma and Hemainthus cuba are great choices. Plants like Hygrophila polysperma, Cryptocoryne Family, Ludwigia family , Didplis diandra, Styurogen Family , Anubias family can be used as midground plants. Several varieties of underwater plants are available  in the market but may lead to unwanted pest and snails in your aquarium . Here tissue culture plants are your best bet as they are grown in a controlled environment and are pest free. They grow much denser and provide you with a better chance of success.

Decorative items: Generally , driftwood and rocks are used for decoration.As they are a realistic n funtional representaion of nature.

SETTING IT UP


Once you have zeroed in on the right spot and gathered the equipment, it's time to set up the aquarium. Start by spreading the substrate on the tank floor.  Decorate the soil and proceed to adding water, but only until it submerges the substrate. Place the plants one by one with the help of tweezers. Now fill the tank without disturbing the base. Setup the filter and lights. Change 80% of water once a week.

TANK LAYOUT

Design a layout for your aquarium -it's not very different from photography composition. You can go for triangular, `U' or island layout. A proper layout not only makes your tank look beautiful but also plays an important role in plant growth. Rule of thirds is a very common and general rule to follow

ADDING FISH
Fishes are rather essential for plant growth and to ensure a proper ecosystem and give the aquarium some movement. Choose from freshwater fishes and shrimps, but do not go for those that dig holes in the ground.
Make sure the fishes you choose are compatible with the plants. Neon tetra, Harlequin Rasbora, Rummy Nose Tetra can be good additions. Many algae eaters and shrimps that live happily in the planted tank.

WATCH OUT FOR:
CO2 level must never exceed the required level.Water temperature must not be higher than 28 degree centigrade. Direct sunlight, plastic and other chemical contamination must be avoided.The water must be soft and chlorine free.Use of light and fertilizer must be proportionate. Lights should be turned on for at least 7 hours per day.

HOW WOULD YOU KNOW YOU ARE DOING IT RIGHT:
Plants would be lush green and healthy, without any algae, snails and leech.Plants would release small oxygen bubbles after the lights remain on for five to six hours.The fish would roam around the tank and not float near the water surface.Plants and some fishes would breed inside the tank.
 Nature Aquarium, Aqua Interior Pet Store Raipur


WHY YOU NEED A PLANTED AQUARIUM:

* At schools and public facilities: 
** An effective educational tool to instil a sense of responsibility towards Nature.

* At work places, business establishments:
** Reduces stress, enhances motivation and increases efficiency among employees.

* At hotels and spas:
** A healing space will increase footfall.

* At medical institutions:
** Helps reduce pre-treatment anxieties.

* At homes:
** It relaxes and enriches our lives. Afterall who doesnot require a piece on nature in their home.
 Nature Aquarium, Aqua Interior Pet Store Raipur

शनिवार, 16 जुलाई 2016

प्राचीन स्वास्थ्य दोहावली


पानी में गुड डालिए, 
बीत जाए जब रात!
सुबह छानकर पीजिए, 
अच्छे हों हालात!!

धनिया की पत्ती मसल,
बूंद नैन में डार!
दुखती अँखियां ठीक हों,
पल लागे दो-चार!!


ऊर्जा मिलती है बहुत,
पिएं गुनगुना नीर!
कब्ज खतम हो पेट की, 
मिट जाए हर पीर!!

प्रातः काल पानी पिएं, 
घूंट-घूंट कर आप!
बस दो-तीन गिलास है, 
हर औषधि का बाप!!

ठंडा पानी पियो मत, 
करता क्रूर प्रहार!
करे हाजमे का सदा, 
ये तो बंटाढार!!


भोजन करें धरती पर, 
अल्थी पल्थी मार!
चबा-चबा कर खाइए, 
वैद्य न झांकें द्वार!!

प्रातः काल फल रस लो, 
दुपहर लस्सी-छांस!
सदा रात में दूध पी, 
सभी रोग का नाश!!

दही उडद की दाल सँग, 
पपीता दूध के संग!
जो खाएं इक साथ में, 
जीवन हो बदरंग!!

 


प्रातः- दोपहर लीजिये, 
                                              जब नियमित आहार!                                                  
तीस मिनट की नींद लो, 
रोग न आवें द्वार!!

भोजन करके रात में, 
घूमें कदम हजार!
डाक्टर, ओझा, वैद्य का , 
लुट जाए व्यापार !!

देश,भेष,मौसम यथा, 
हो जैसा परिवेश!
वैसा भोजन कीजिये, 
कहते सखा सुरेश!!

 


इन बातों को मान कर, 
जो करता उत्कर्ष!
जीवन में पग-पग मिले, 
उस प्राणी को हर्ष!!

घूट-घूट पानी पियो, 
रह तनाव से दूर!
एसिडिटी, या मोटापा, 
होवें चकनाचूर!!

अर्थराइज या हार्निया, 
अपेंडिक्स का त्रास!
पानी पीजै बैठकर,  
कभी न आवें पास!!

रक्तचाप बढने लगे, 
तब मत सोचो भाय!
सौगंध राम की खाइ के, 
तुरत छोड दो चाय!!

सुबह खाइये कुवंर-सा, 
दुपहर यथा नरेश!
भोजन लीजै रात में, 
जैसे रंक सुरेश!!

देर रात तक जागना, 
रोगों का जंजाल!
अपच,आंख के रोग सँग, 
तन भी रहे निढाल!!

टूथपेस्ट-ब्रश छोडकर, 
हर दिन दोनो जून!
दांत करें मजबूत यदि, 
करिएगा दातून!!

हल्दी तुरत लगाइए, 
अगर काट ले श्वान!
खतम करे ये जहर को, 
कह गए कवि सुजान!!

मिश्री, गुड, खांड, 
ये हैं गुण की खान!
पर सफेद शक्कर सखा, 
समझो जहर समान!!

चुंबक का उपयोग कर, 
ये है दवा सटीक!
हड्डी टूटी हो अगर, 
अल्प समय में ठीक!!

दर्द, घाव, फोडा, चुभन, 
सूजन, चोट पिराइ!
बीस मिनट चुंबक धरौ, 
पिरवा जाइ हेराइ!!

हँसना, रोना, छींकना, 
भूख, प्यास या प्यार!
क्रोध, जम्हाई रोकना, 
समझो बंटाढार!!

सत्तर रोगों कोे करे, 
चूना हमसे दूर!
दूर करे ये बाझपन, 
सुस्ती अपच हुजूर!!

यदि सरसों के तेल में, 
पग नाखून डुबाय!
खुजली, लाली, जलन सब, 
नैनों से गुमि जाय!!

भोजन करके जोहिए, 
केवल घंटा डेढ!
पानी इसके बाद पी, 
ये औषधि का पेड!!

जो भोजन के साथ ही,
पीता रहता नीर!
रोग एक सौ तीन हों, 
फुट जाए तकदीर!!

पानी करके गुनगुना, 
मेथी देव भिगाय!
सुबह चबाकर नीर पी, 
रक्तचाप सुधराय!!

अलसी, तिल, नारियल, 
घी सरसों का तेल!
यही खाइए नहीं तो, 
हार्ट समझिए फेल!!

पहला स्थान सेंधा नमक, 
पहाड़ी नमक सु जान!
श्वेत नमक है सागरी, 
ये है जहर समान!!

तेल वनस्पति खाइके, 
चर्बी लियो बढाइ!
घेरा कोलेस्टरॉल तो, 
आज रहे चिल्लाइ!!

अल्यूमिन के पात्र का,
करता है जो उपयोग!
आमंत्रित करता सदा ,
वह अडतालीस रोग!!

फल या मीठा खाइके, 
तुरत न पीजै नीर!
ये सब छोटी आंत में, 
बनते विषधर तीर!!

चोकर खाने से सदा, 
बढती तन की शक्ति!
गेहूँ मोटा पीसिए, 
दिल में बढे विरक्ति!!

नींबू पानी का सदा, 
करता जो उपयोग!
पास नहीं आते कभी, 
यकृति-आंत के रोग!!

दूषित पानी जो पिए, 
बिगडे उसका पेट!
ऐसे जल को समझिए, 
सौ रोगों का गेट!!

रोज मुलहठी चूसिए, 
कफ बाहर आ जाय!
बने सुरीला कंठ भी, 
सबको लगत सुहाय!!

भोजन करके खाइए, 
सौंफ,  गुड, अजवान!
पत्थर भी पच जायगा, 
जानै सकल जहान!!

लौकी का रस पीजिए, 
चोकर युक्त पिसान!
तुलसी, गुड, सेंधा नमक, 
हृदय रोग निदान!!

हृदय रोग, खांसी और 
आंव करें बदनाम!
दो अनार खाएं सदा, 
बनते बिगडे काम!!

चैत्र माह में नीम की, 
पत्ती हर दिन खावे !
ज्वर, डेंगू या मलेरिया, 
बारह मील भगावे !!

सौ वर्षों तक वह जिए, 
लेत नाक से सांस!
अल्पकाल जीवें, करें, 
मुंह से श्वासोच्छ्वास!!

सितम, गर्म जल से कभी, 
करिये मत स्नान!
घट जाता है आत्मबल, 
नैनन को नुकसान!!

हृदय रोग से आपको, 
बचना है श्रीमान!
सुरा, चाय या कोल्ड्रिंक, 
का मत करिए पान!!

अगर नहावें गरम जल, 
तन-मन हो कमजोर!
नयन ज्योति कमजोर हो, 
शक्ति घटे चहुंओर!!

तुलसी का पत्ता करें, 
यदि हरदम उपयोग!
मिट जाते हर उम्र में, 
तन के सारे रोग!!

गुरुवार, 14 अप्रैल 2016

प्रिंट मीडिया दैनिक छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस का फ्रेंचाइजी से होगा विस्तार

Dainik Chhattisgarh Express दैनिक छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस 
दैनिक छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस अपनी विस्तार योजना के तहत देश के प्रमुख शहरों में दैनिक  समाचार पत्र छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की फ्रेंचायजी देना चाहती है। इच्छुक व्यक्ति मो. नं. 07489405373 पर संपर्क कर सकते है।

स्वयं में ब्राण्ड नेम है छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस

 छत्तीसगढ़ के प्रमुख शहर बिलासपुर से रायपुर, नागपुर, भोपाल, आगरा, नई दिल्ली होते हुए अमृतसर जाने के लिए छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के नाम से रेल्वे के द्वारा बरसो पहले से एक ट्रेन संचालित की जा रही है। उक्त ट्रेन छत्तीसगढ़, विदर्भ और मध्यप्रदेश के लोगों को देश की राजधानी से जोड़ने का प्रमुख माध्यम रही है, यही वजह है कि छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस स्वयं में एक ब्रांडनेम है जो एक समाचार पत्र के रूप में लोगों की जुबान पर बड़ी आसानी से चढ़ सकता है। 01 सितंबर 2015 से छत्तीसगढ़ से छत्तीसगढ़  एक्सप्रेस नाम से समाचार पत्र का प्रकाशन हो रहा है।


फ्रेंचाइजी को अधिकार ?

 छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की फ्रेंचाइजी लेने के बाद आप उस शहर से छत्तीसगढ़  एक्सप्रेस नाम से अखबार का संचालन कर सकते हैं। फ्रेंचाइजी वाले स्थान पर आप अखबार के संचालन (समाचार/विज्ञापन/प्रसार) के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र रहेंगे।

निवेश का बेहतर माध्यम

 अगर आपके पास पर्याप्त पैसे है, आप उद्योग/निजी संस्थान/सामाजिक अथवा राजनीतिक संगठन से जुड़े हुए हैं तो छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस आपके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

मंगलवार, 30 जून 2015

Hindi Funny Jokes - फनी जोक्स


Funny Jokes - फनी जोक्स


Funny Jokes - फनी जोक्स


Funny Jokes - फनी जोक्स